वैकल्पिक पता

अगर आपका संगणक हिंदी में लिखने में अक्षम है तो आप http://hindi.fi.vc याद रखें. If your computer dosen't have a way to enter Hindi in browser address bar,please remember shortcut http://hindi.fi.vc

शिक्षा प्लान

गुरुवार, 18 अगस्त 2011

भरोसा

यदि कभी मन निराशा में रहा भटक हो,
ह्रदय के आशावाद, बन विश्वास, संबल दो.
यदि कभी विषाद से मन व्यथित हो,
ह्रदय के विश्वास, प्रेरणा की किरण दो.
कर्मभार से यदि तन हो रहा बोझिल हो,
ह्रदय की चेतना, तनु को तुम बल दो.
यदि विश्वास हीं हो रहा खंडित हो,
दृदय के ज्योतिपूंज, नव विश्वासों को प्रकाश पल्लवित कर दो.

अंजन भूषण
दिनांक - १९ जनवरी ९०

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें