वैकल्पिक पता

अगर आपका संगणक हिंदी में लिखने में अक्षम है तो आप http://hindi.fi.vc याद रखें. If your computer dosen't have a way to enter Hindi in browser address bar,please remember shortcut http://hindi.fi.vc

शिक्षा प्लान

बुधवार, 4 अप्रैल 2012

कोलाहल

अभिमन्यु की गाथा है,आधा हीं आता है.

गर्भ से सीखा नहीं,छाती पे झेला है.

युद्ध की तैयारी है, दुश्मन पर भारी है.

चक्रव्यूह वेदन कर पार तो पाऊंगा.

वापस लौटने की नहीं कोई अभिलाषा है.

खून के कतरे पे कई नाम होगा.

अपनों की लाशों भी होगी महाभारत में.

समय के टाइमलाइन पर जिंदगी एक घटना है.

परिवर्तन तो होगा,क्योंकि ये परमाणु बम है.

हम हों ना हों,प्रगति आगे की परिकल्पना है.

 

- अंजन भूषण, अप्रैल ४,२०१२

२९२/सी, अशोक नगर, राँची

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें